Apj abdul kalam biography in Hindi – Missile Man full Jivani

Apj abdul kalam biography in Hindi - The Missile Man Jivani

Apj abdul kalam biography in Hindi पढ़ने के बाद आपको अपने जिंदगी में Goal और Motivation के साथ-साथ आत्मविश्वास भी मिलेगा तो शुरू करते है इस महान पुरुष की जीवनगाथा की कहानी हिंदी में।

इनका पूरा नाम अबुल पाकिर जैनुल आब्दीन अब्दुल कलाम मसऊदी था और इनकी एक बहुत खूबसूरत आदत थी की ये कुछ भी गलती कर देते थे तो उस गलती को तुरंत मान लेते थे और किसी कार्य में सफलता हासिल करते तो उसका Credit नहीं लेते थे।

जब एक आम इंसान या व्यक्ति कोई असाधारण या महान कार्य करता है तो वह समाज, शहर, या देश का ही ना होकर पुरे संसार का हो जाता है और यही करके दिखाया हमारे चहेते अब्दुल कलाम जी ने, चलिए अब Apj Abdul kalam biography in Hindi विस्तार से जानते है।

Quick Apj abdul kalam biography in Hindi

अब्दुल कलाम quick biography निचे दी गयी है जिससे उनके जीवन की कुछ हिस्सों को जल्दी से जान पाएंगे और समझने में भी आसानी होगी – 

  • Name                   APJ Abdul Kalam
  • Date Of Birth       15 October 1931 
  • Date Of Death     27 July, 2015, Shillong
  • Birth Of Place      Rameshwaram (रामेश्वरम)
  • Wife                     अविवाहित
  • Education            M.Tech
  • Awards                Bharat Ratna, Padma bhusan, Padma vibhusan
apj abdul kalam childhood and old image
apj abdul kalam childhood and old image

Apj abdul kalam biography in Hindi – Missile Man full Jivani 

अब्दुल कलाम का जन्म तमिलनाडु राज्य के एक रामेश्वरम नामक गाँव में 15 अक्टूबर 1931 को हुआ था और ये मध्यमवर्गीय मुस्लिम परिवार से थे।

इनके पिता का नाम जैनुलाब्दीन था जो ज्यादा पढ़े लिखे नहीं थे फिर भी इनका अब्दुल कलाम पर बहुत प्रभाव था। इनके पिता मछुवारो को नाव किराए पर दिया करते थे इनकी लगन और मेहनत से अब्दुल जी को अच्छे संस्कार दे पाए जिसका प्रभाव अब्दुल कलाम पर पड़ा था।

अब्दुल कलाम संयुक्त परिवार में रहा करते थे और इनकी family बहुत बड़ी थी इसका अंदाजा इसी बात से लगा सकते है की अब्दुल के पांच भाई और पांच बहने थी, इनके घर में तीन परिवार रहता था।

पांच वर्ष की उम्र में इनकी पढाई लिखाई पंचायत के प्राथमिक विद्यालय में हुआ उनके शिक्षक यविदुराई सोलोमन ने उनसे कहा था की सफलता पाना है तो इच्छा , आस्था , अपेक्षा को भली भाति समझ लो और उन पर प्रभुत्वा हासिल कर लेना चाहिए। 

अब्दुल कलाम अपनी आरंभिक शिक्षा जारी रखने के लिए पेपर बाटने का भी काम करना शुरू कर दिया था। अब्दुल कलाम ने 1950 मद्रास इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नालजी से अंतरिक्ष विज्ञान से स्त्रातक की उपाधि प्राप्त की है।

स्त्रातक होने के बाद उन्होंने एयरक्राफ्ट परियोजना का काम  करने के लिए भारतीय रक्षा अनुसन्धान एवं विकास संसथान में प्रवेश किया। 

अब्दुल कलाम का वैज्ञानिक जीवन 

एपीजे अब्दुल कलाम 1972 में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन से जुड़ गए और इनको परियोजना महानिदेशक के रूप में भारत का पहला स्वदेशी उपग्रह (S.L.V) तृतीय को प्रक्षपास्त्र बनाने का श्रेय प्राप्त किया और इन्होने ही 1980 में रोहिणी उपग्रह को पृथ्वी की कक्षा के निकट स्थापित किया था। 

यह मेरा चरण था, जिसमे मैंने तीन महान शिक्षको -विक्रम साराभाई , प्रोफेसर सतीश धवन और ब्रम्ह प्रकाश से नेतृत्व सीखा। मेरे लिए यह सिखने और ज्ञान के अधिग्रहण के समय था।  – अब्दुल कलाम 

अब्दुल कलाम ने इंडिया के विकास स्तर को विज्ञानं की दुनिया में आधुनिक करने के लिए विशेष सोच प्रदान की। यह भारत सरकार के मुख्या वैज्ञानिक और सलाहकार भी थे। अग्नि मिसाइल और पृथ्वी मिसाइल दोनों का सफल परिक्षण का श्रेय काफी कुछ इन्ही को है। 

अब्दुल कलाम इंडिया के राष्ट्रपति निर्वाचित हुए थे , उनको भारतीय जनता पार्टी समर्थित NDA घटक डालो ने अपना उमीदवार बनाया था। 18 जुलाई 2002 को अब्दुल कलाम को 90% बहुमत द्वारा भारत का राष्ट्रपति चुना गया था ,फिर इन्हे 25 जुलाई 2002 को संसद भवन के अशोक कक्ष में राष्ट्रपति पद की सपथ दिलाई गयी थी। इनका कार्यकाल 25 जुलाई 2007 में समाप्त हुआ। अब्दुल कलाम व्यक्तिगत जिंदगी में बहुत ही अनुसाशन प्रिय और शाकाहारी थे। 

इन्होने अपनी जीवनी “Wings Of Fire” भारतीय युवाओ को मार्गदर्शन प्रदान करने वाले अंदाज़ में लिखी है और इनकी दूसरी पुस्तक “Guiding Souls – Dialogue Of the Purpose Of Life “ आत्मिक विचारो को प्रदर्शित करती है। 

2000 वर्षो के इतिहास में भारत पर 600 वर्षो तक अन्य लोगो ने शासन किया है। यदि आप विकास चाहते है तो देश में शांति की स्थिति होना आवश्यक है और शांति की स्थापना शक्ति से होती है। इसी कारण प्रक्षेपास्त्रों को विकसित किया गया ताकि देश शक्ति संपन्न हो। – अब्दुल कलाम 

अब्दुल कलाम के पुरस्कार एवं सम्मान 

अब्दुल कलाम को भारत सरकार द्वारा 1981 में पद्मभूषण एवं 1990 में पद्मविभूषण का सम्मान प्रदान किया गया और यह उपाधि DRDO ने कार्यो के दौरान वैज्ञानिक उपलब्धियों के लिए तथा भारत सरकार के सलाहकार के रूप में कार्य हेतु दिया गया था।

1997 में अब्दुल कलाम को भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान “भारत रत्न” से सम्मानित गया था। यह पुरस्कार उनके वैज्ञानिक अनुसंसाधनो और भारत में तकनिकी के विकास में अभूतपूर्व योगदान हेतु दिया गया था। 2005 में स्विट्ज़रलैंड सरकार ने कलाम साहब के स्विट्ज़रलैंड आगमन के उपलक्ष में 26 मई को विज्ञान दिवस घोसित किया।

नेशनल स्पेस सोशायटी ने वर्ष 2013 में उन्हें अंतरिक्ष विज्ञान सम्बंधित परियोजनाओं के कुशल सञ्चालन और प्रबंध के लिए वॉन ब्राउन अवार्ड से पुरस्कृत किया।

Apj abdul kalam को और भी बहुत से पुरस्कार और सम्मान से नवाज़ा गया था जिसको आप विकिपीडिया में पुरस्कार के section में पढ़ सकते है। 

अब्दुल कलाम का निधन 

अब्दुल कलाम जी की मृत्यु 27 जुलाई 2015 को हुई। शाम अब्दुल कलाम भारतीय प्रबंधन संस्थान शिलॉन्ग में “रहने योग्य ग्रह” पर speech दे रहे थे तभी उन्हें दिल का दौरा पड़ा और ये बेहोश होकर गिर पड़े तक़रीबन साढ़े छह (6:30)बजे गंभीर अवस्था में इनको बेथानी हॉस्पिटल के ICU में ले जाया गया और लगभग दो घंटे बाद डॉक्टर जॉन साइलो ने इनकी मृत्यु की पुष्टि की और बताया कि कलाम जी को जब हॉस्पिटल लाया गया था तब उनकी नब्ज़ और Blood pressure साथ छोड़ चुके थे।

अपने निधन से लगभग 9 घंटे पहले tweet करके ये बताया था की वो शिलॉन्ग IIM में lecture के लिए जा रहे है। 

अब्दुल कलाम का अंतिम संस्कार

मृत्यु के तुरंत बाद अब्दुल कलाम जी के पार्थिव शरीर को भारतीय वायु सेना के हेलीकाप्टर से शिलॉन्ग से गुवाहाटी लाया गया जहा से अगले दिन 28 जुलाई को पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम का पार्थिव शरीर मंगलवार दोपहर वायु सेना के विमान c-130j हरक्यूलिस से दिल्ली लाया गया। 

30 जुलाई 2015 को पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम को पुरे सम्मान के साथ रामेश्वर के पी करूम्बु ग्राउंड में दफना दिया गया। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, तमिलनाडु के राज्यपाल और कर्नाटक, केरल और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री सहित 3,50,000 से अधिक लोगो ने अंतिम संस्कार में भाग लिया।

Apj Abdul Kalam Quotes

apj abdul kalam quotes
apj abdul kalam quotes

apj abdul kalam quotes image
apj abdul kalam quotes image

My Opinion (मेरा पक्ष)

इस पोस्ट में हमने Apj abdul kalam biography in Hindi में पढ़ा और उनके जीवन से बहुत कुछ सीखा, अगर इस आर्टिकल में कोई भी गलती हो तो कमेंट करके बताये और इनके जीवन के बारे में कुछ छूट गया हो तो हमे कमेंट बॉक्स में बताये तो हम इसको अपडेट करने की कोशिश करेंगे।

उम्मीद है Apj Abdul kalam biography in Hindi ये पोस्ट आपको बहुत पसंद आया होगा धन्यवाद !   

Niraj Yadav

Hello दोस्तों मैं इस ब्लॉग का Writer और Founder हूँ और इस वेबसाइट के माध्यम से Hindi Biography, Health, Viral News And Festival Quotes के बारे में जानकारी Share करता हूँ। 🔁

View all posts by Niraj Yadav →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!